Friday , April 26 2019
Loading...
Breaking News

हिंदुस्तान के साथ ‘‘फिर से बाचतीत प्रारम्भ होने’’ की आशा कर रहा पाक ; सोहैल महमूद

पाकिस्तान के निवर्तमान उच्चायुक्त सोहैल महमूद ने बोला है कि उनका राष्ट्र लोकसभा चुनाव के बाद हिंदुस्तान के साथ ‘‘फिर से बाचतीत प्रारम्भ होने’’ की आशा कर रहा है क्योंकि योजनाबद्ध वार्ताओं से दोनों राष्ट्रों को पारस्परिक चिंताओं को समझने, लंबित विवादों का हल करने  एरिया में टिकाऊ शांति तथा सुरक्षा कायम करने में मदद मिलेगीपाक के अगले विदेश सचिव नियुक्त किए गए महमूद ने पीटीआई भाषा को दिए एक इंटरव्यू में यह भी बोला कि हिंदुस्तान में पाक के बारे में एक वस्तुनिष्ठ विमर्श की आवश्यकता है जो शांतिपूर्ण, सहयोगी  अच्छे पड़ोसी संबंधों को प्रोत्साहित कर सके उन्होंने कहा, ‘‘हम हिंदुस्तान में चुनाव होने के बाद फिर से वार्ता प्रारम्भ होने की आशा करते हैं

कूटनीति  बातचीत बहुत महत्वपूर्ण हैं ’’ हिंदुस्तान में करीब 19 महीने तक पाक का उच्चायुक्त रहने के बाद महमूद रविवार को इस्लामाबाद लौट गए उनके मंगलवार को नया कार्यभार संभालने की उम्मीद है बताते चलें कि पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद पाक के बालाकोट में 26 फरवरी को एक आतंकवादी प्रशिक्षण ठिकाने पर इंडियन वायुसेना द्वारा किए गए हमले  इसके अगले ही दिन की गई पाक की जवाबी कार्रवाई के करीब छह सप्ताह बाद यह टिप्पणी आई है

दोनों राष्ट्रों के बीच तनाव बढ़ जाने से युद्ध की संभावना पैदा हो गई थी  अमेरिका एवं चाइना जैसे राष्ट्रों ने परमाणु हथियारों से लैस दोनों राष्ट्रों के बीच तनाव कम करने में किरदारनिभाई थी महमूद ने बोला कि कूटनीति  बातचीत दोनों पड़ोसी राष्ट्रों के बीच संबंध बेहतर करने के लिए जरूरी हैं तथा वार्ता पारस्परिक चिंताओं को समझने तथा एरिया में शांति, समृद्धि  सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एकमात्र विकल्प है

उन्होंने कहा, ‘‘सतत वार्ता  योजनाबद्ध बातचीत दोनों राष्ट्रों को पारस्परिक चिंताओं को समझने, लंबित विवादों का हल करने  एरिया में टिकाऊ शांति, सुरक्षा तथा समृद्धि लाने में सक्षम बनाएगा ’’ उन्होंने यह भी बोला कि हिंदुस्तान में पाक के बारे में विमर्श की समीक्षा करने की आवश्यकता है महमूद ने बोला कि पाक को वस्तुनिष्ठ रूप से  कहीं अधिक पूर्ण तरीके से सच के साथ बयां करने वाले विमर्श की आवश्यकता है

एक ऐसा विमर्श जो शांतिपूर्ण, सहयोगी  अच्छे पड़ोसी संबंधों के लिए अवसरों को मान्यता देने में भी मदद करे उन्होंने कहा, ‘‘हमें अवश्य ही हमारे खुद के लिए एवं एरिया के लिए टिकाऊ शांति, समान सुरक्षा  साझा समृद्धि के लिए कार्य करना चाहिए ’’ उल्लेखनीय है कि पाक ने तनाव घटाने की प्रयास के तहत दो सप्ताह पहले 360 इंडियन कैदियों को सदभावना के तहत रिहा करने की घोषणा की थी

उनमें से ज्यादातर लोग मछुआरे थे पाक में सालाना बैशाखी समारोह में भाग लेने के लिए हिंदुस्तान से 2,200 सिख श्रद्धालुओं को यहां स्थित पाक उच्चायोग द्वारा वीजा दिए जाने के बाद यह कदम उठाया गया करतारपुर कॉरीडोर परियोजना के बारे में पूछे जाने पर पाकिस्तानी उच्चायुक्त ने बोला कि इस्लामाबाद अपनी ओर बुनियादी ढांचे को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है

पाक गवर्नमेंट आशा करती है कि नवंबर 2019 से पहले इसके तौर उपायों पर दोनों राष्ट्र सहमत हो जाएंगे जनवरी 2016 में पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकवादी हमले के बाद हिंदुस्तान ने घोषणा की थी कि वह पाक के साथ तब तक बातचीत नहीं करेगा जब तक कि वह सीमा पार से आतंकवाद नहीं बंद कर देता

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *