Friday , April 26 2019
Loading...
Breaking News

इक्वाडोर के राष्ट्रपति ने लंदन दूतावास में ‘जासूसी केंद्र’ स्थापित करने की करी प्रयास 

इक्वाडोर के राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो ने देने के अपने निर्णय को पलटने के हालिया कदम का बचाव करते हुए बोला कि विकीलीक्स के संस्थापक ने इक्वाडोर के लंदन दूतावास में ‘जासूसी केंद्र’ स्थापित करने की प्रयास की थी राष्ट्रपति ने यह बात ‘द गार्जियन’ समाचारपत्र के साथ एक इंटरव्यू के दौरान कही 

मोरेनो ने कहा, ‘‘ यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे एरिया से  पूर्व गवर्नमेंट के अधिकारियों की इजाजत से इक्वाडोर दूतावास में दूसरे राष्ट्रों के मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए सुविधाएं मुहैया कराई गईं ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हम अपने घर का प्रयोग जासूसी केंद्र बनाने के लिए नहीं होने दे सकते हैं ’’ राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘ हमारा निर्णय स्वेच्छाचारी नहीं है, यह अंतर्राष्ट्रीयकानून पर आधारित है ’’

असांजे लंदन में हिरासत में
विकीलीक्स के संस्थापक असांजे लंदन में हिरासत में हैं उन पर 2012 में ब्रिटेन में मिली जमानत का दुरुपयोग करके इक्वाडोर के दूतावास में शरण लेने का आरोप है  इस मामले में वह सजा की प्रतीक्षा कर रहे हैं ब्रिटेन से स्वीडन प्रत्यर्पित किए जाने के डर से उन्होंने इक्वाडोर के दूतावास में शरण ली थी

वकील अमेरीका प्रत्यर्पित करने का कर रहे विरोध
इससे पहले रविवार को असांजे के एडवोकेट ने बोला था कि असांजे के विरूद्ध दुष्कर्म के मामले को फिर से खोला जाता है तो उनके मुव्वकिल स्वीडन के अधिकारियों के साथ योगदानकरेंगे लेकिन अमेरिका प्रत्यर्पित किए जाने का वह विरोध करते रहेंगे हालांकि असांजे अपने ऊपर लगे बालात्कार के आरोप से मना करते रहे हैं

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *