Friday , April 26 2019
Loading...
Breaking News

प्रियंका गांधी वाड्रा व प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार एक साथ करने जा रही ये काम

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा  पश्चिम उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ 15 अप्रैल को पहली बार एक साथ रैली को संबांधित करेंगे.फतेहपुर सीकरी के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया फतेहपुर सीकरी के बाद अलीगढ़  नगीना लोकसभा सीटों पर दो जनसभाओं का संबोधित करेंगे. इस दौरान प्रियंका उनके साथ मौजूद रहेंगी. चुनाव का पहला चरण खत्म हो गया है लेकिन कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व का प्रचार अभियान में अभी भी शबाब पर नहीं दिख रहा है.

प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर की सीट फतेहपुर सीकरी के पहले ऐसी ही रैली सहारनपुर, बिजनौर,  शामली में होनी थी लेकिन मौसम बेकार होने की वजह से टालनी पड़ी थी. पहली संयुक्त रैली में न पहुंचने के बाद प्रियंका ने अगले दिन 9 अप्रैल को सहरानपुर पहुंच कर इसकी भरपाई करने की प्रयास की थी. कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी राष्ट्र भर में रोजाना 3-4 जनसभाएं जरूर कर रहे हैं लेकिन उत्तर प्रदेश में उम्मीदवारों की ओर से आ रही मांग को देखते हुए पार्टी के दोनों प्रभारी अभी उतना समय नहीं दे पा रहे हैं.

उत्तर प्रदेश में उन्हें CM योगी आदित्यनाथ की भी चुनौती मिल रही है. पश्चिम उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया को बीच-बीच में अपने लोकसभा एरिया गुना को भी देखना पड़ रहा है लिहाजा प्रियंका गांधी की जिम्मेदारी अधिक बढ़ गई है. इसी को ध्यान में रखकर पार्टी अब प्रियंका के दौरे बढ़ाने जा रही है.

एक ओर जहां बीजेपी की ओर से पीएम नरेंद्र मोदी  बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह प्रतिदिन 3-4 रैलियां कर रहे हैं. प्रियंका को मैदान में उतारे जाने के बाद 10-12 दिन ही पार्टी प्रचार में उतारा गया है. प्रियंका को महासचिव प्रभारी बनाने की घोषणा 19 फरवरी को हुई थी. जिसके बाद वे 27 फरवरी को अमेठी  28 को रायबरेली पहुंची थीं  कार्यकर्ताओं से मुलाकात की थी. प्रियंका चुनाव प्रचार में सक्रिय तो हैं लेकिन उनके प्रोग्राम लगातार बदले गए हैं  कार्यक्रमों के बीच कई-कई दिन का अंतर आ रहा है.

जिससे पार्टी की चुनावी हवा नहीं बन पा रही है. ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिम उत्तर प्रदेश का जिम्मा जरूर मिला है लेकिन सिंधिया पहले चरण की आठ जिसमें सभी पश्चिम की थीं बहुत समय नहीं दे पाए हैं. गाजियाबाद, सहरानपुर में प्रियंका मैदान में उतरीं. प्रियंका छह अप्रैल को कानपुर के रास्ते फतेहपुर गईं लेकिन जरूरी कानपुर में उनका बड़ा प्रोग्राम नहीं हो सका. प्रियंका 10 अप्रैल को अमेठी  11 को रायबरेली में बतौर प्रभारी नामांकन में शामिल हुईं लेकिन उसके बाद तीन दिनों तक उनका कोई प्रोग्राम तय नहीं हुआ है. दूसरे चरण का मतदान 18 को है लिहाजा 15  16 अप्रैल का समय ही इन सीटों के लिए मिलेगा.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *