Thursday , December 13 2018
Loading...

वैज्ञानिक आर्सेनिक युक्त मिट्टी में फसलें पैदा करने की दिशा में कर रहे ये कार्य

ब्रिटेन में एक इंडियन वैज्ञानिक आर्सेनिक युक्त मिट्टी में फसलें पैदा करने की दिशा में कार्य कर रहे हैं उनके इस अध्ययन का उत्तर-पूर्व हिंदुस्तान के किसानों पर व्यापक प्रभावहो सकता है वार्विक विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ जीवन साइंसेज में डा अलेक्स जोन्स प्रयोगशाला के डॉ मोहन टीसी ने ट्रांसजेनिक जौ पर प्रायोगिक परीक्षण किया

Loading...

ब्रिटेन की संस्था एमएलएसआरएफ से वित्तपोषण के बाद अब उनकी योजना धान के पौधों को उगाने की है विश्वविद्यालय ने बुधवार पांच दिसंबर को विश्व मृदा दिवस के मौके पर इसकी घोषणा कीउन्होंने बोला कि आर्सेनिक से कैंसर होने के कारण महत्वपूर्ण है कि खाद्य पदार्थ में इसे प्रवेश नहीं करने दें इसके मद्देनजर सुरक्षित फसलें विकसित करना आवश्यक है

विश्वविद्यालय ने बोला कि मिट्टी में आर्सेनिक होने की समस्या वैश्चिक है पूर्वोत्तर हिंदुस्तान  बांग्लादेश में यह खास तौर पर मिलता है

loading...
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *