Thursday , December 13 2018
Loading...

5जी स्पेक्ट्रम पर सेवा देने वाली पहली संस्था होगी ये

यात्रियों की सुरक्षा पुख्ता करने के लिए रेल मंत्रालय ने दूरसंचार विभाग से 5जी स्पेक्ट्रम देने की मांग की है. इसके तहत रेल के डिब्बों में सीसीटीवी लगाने के साथ यात्रियों को चलती ट्रेन में वाई-फाई की सुविधा दी जाएगी. दूरसंचार विभाग ने इस पर कैबिनेट नोट जारी करके सभी संबधित मंत्रालयों से राय मांगी है. विभाग जल्द कैबिनेट की मंजूरी लेकर रेलवे के लिए 5जी स्पेक्ट्रम का आवंटन कर सकता है.

यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेलवे देशभर की यात्री ट्रेनों में 12 लाख सीसीटीवी कैमरों का नेटवर्क तैयार कर रहा है. सभी सीसीटीवी कैमरे भविष्य में 5जी स्पेक्ट्रम से जुड़ेंगे, जिसके जरिए यात्रियों की सुरक्षा की निगरानी तथा रिकॉर्डिंग की जाएगी. इसमें से 11,000 रेलगाडियों  8,500 रेलवे स्टेशनों में सीसीटीवी लगेंगे.

Loading...

टेलीकॉम कंपनियों से पहले मिल सकता है स्पेक्ट्रम 
मौजूदा समय में 7,300 रेलवे स्टेशन पर वाई-फाई देने की योजना रेलवे ने तैयार कर ली है. इसके लिए मार्च, 2019 तक का लक्ष्य रखा है  इसी व्यवस्था को संचार मुहैया कराने को दूरसंचार विभाग से 5जी स्पेक्ट्रम की मांग की है. उसने मंत्रालय को लेटर लिखकर स्पेक्ट्रम से यात्री सुरक्षा पुख्ता करने को बोला है.

माना जा रहा है कि टेलीकॉम कंपनियों से पहले रेलवे को 5जी स्पेक्ट्रम आवंटित किया जाएगा. दूरसंचार विभाग के ऑफिसर के मुताबिक 5जी स्पेक्ट्रम के लिए मंत्रालय की ओर से कैबिनेट नोट तैयार कर लिया गया है. इस नोट को सभी संबंधित मंत्रालयों को भेजकर उनकी राय मांगी गई है. मंत्रालयों की राय में अगर कोई असहमति नहीं जताई गई तो संभव है कि कैबिनेट जल्द इस मामले में फैसला लेकर रेल मंत्रालय को आगे कदम बढ़ाने का मौका देगा.

loading...

5जी स्पेक्ट्रम पर सेवा देने वाली पहली संस्था होगा रेलवे

अधिकारी के मुताबिक रेलवे अपने यात्रियों को 5जी की निर्बाध सेवा भी मुहैया कराएगा. वह 5जी स्पेक्ट्रम पर सेवा देने वाली राष्ट्र की पहली संस्था का  खिताब हासिल करेगा. इन सेवाओं में चलती ट्रेन में भी रेलवे यात्रियों को वाई-फाई की सुविधा शामिल होगी. बताते चलें कि अब तक टेलीकॉम कंपनियों को 5जी स्पेक्ट्रम नहीं मिला है.

रेल बस यात्री सुविधा समिति की ओर से रेल मंत्री पीयूष गोयल को ज्ञापन भेजकर प्लेटफार्मों तथा रेल के डिब्बों में सीसीटीवी कैमरे लगवाने की मांग की गई थी. इसके बाद रेलवे ने तकनीकी समिति से इस मांग पर रूपरेखा तैयार कराई  दूरसंचार विभाग से 5जी स्पेक्ट्रम की मांग की. बताते चलें कि 5जी पर मंत्रालय रूपरेखा तैयार कर चुका है  व्यक्तिगतएरिया की कंपनियों को स्पेक्ट्रम मुहैया कराने की नीति पर आगे कार्य चल रहा है.

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *